केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन ने सागर अन्वेषिका तटीय अनुसंधान पोत राष्ट्र को किया समर्पित…

0
9

केंद्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने 09 जनवरी 2021 को चेन्नई बंदरगाह पर सागर अन्वे‍षिका तटीय अनुसंधान पोत राष्ट्र को समर्पित किया. इस पोत में उन्नत वैज्ञानिक और नवीनतम नेवीगेशन उपकरण हैं, जिनसे समुद्री वातावरण के डेटा का संकलन किया जा सकेगा.

Advertisements

इस अवसर पर केंद्रीय  मंत्री हर्षवर्धन ने कहा कि भारत उन तीन राष्ट्रों में शामिल हो गया है, जिन्होंने समुद्र की गहराई में संसाधनों का पता लगाने के लिए प्रौद्योगिकियों को विकसित किया है. उन्होंने कहा कि पोत को आज राष्ट्र को समर्पित किया गया और इसमें प्रौद्योगिकी बुद्धिमत्ता है. इससे समुद्र के भीतर 3 किलोमीटर तक डेटा संकलन किया जा सकेगा.

केंद्रीय मंत्री ने 09 जनवरी 2021 को ही  इंडियन फुटवियर साइजिंग सिस्टम, सीएलआरआई के महिलाओं के लिए टो स्प्रिंग ब्रांड के आरामदायक जूते और फैशन पूर्वानुमान कार्ड सीएसआईआर-सीएलआरआई, चेन्नई में जारी किए.

कोविड टेस्टिंग किट

केंद्रीय मंत्री ने हर्षवर्धन ने सीएसआईआर-सीएलआरआई में अपने संबोधन में कहा कि देश इस मुश्किल काल में कोविड टेस्टिंग किट, वेंटिलेटर, पीपीई किट, एन-95 मास्क आदि के विनिर्माण में आत्मनिर्भर बना है, जबकि कोविड महामारी के शुरूआती दौर में इनका आयात किया जाता था.

फुटवियर साइजिंग सिस्टम

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि इतिहास में पहली बार भारत के पास अपना फुटवियर साइजिंग सिस्टम होगा. यह एक उदाहरण है, जिससे पता चलता है कि भारत इस प्रकार कई अन्य क्षेत्रों में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में आत्मनिर्भर बन रहा है.

सुनामी की शुरुआती चेतावनी

मौसम की भविष्यवाणी पर, उन्होंने कहा कि जब हम वापस पीछे मुड़कर देखते हैं तो पता चलता है कि (2004 में सुनामी के बाद से) हमारे वैज्ञानिकों ने कितना विकास किया है. अब हम गर्व से कह सकते हैं कि सुनामी की शुरुआती चेतावनी का पूर्वानुमान लगाने में हम दुनिया के सर्वश्रेष्ठ देश हैं. हमने कभी भी गलत चेतावनी जारी नहीं की है. मंत्री ने कहा कि शुरुआती चेतावनी जारी करने की सुविधाओं के कारण, राज्य और प्रशासन लोगों की सुरक्षा हेतु एहतियाती कदम उठाने में सक्षम हो पाए हैं.

source- jagranjosh.com