प्रधानमंत्री मोदी ने कोविड-19 के टीकाकरण पर मुख्‍यमंत्रियों के साथ बैठक की अध्‍यक्षता की…

0
8

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस महाअभियान की रूपरेखा तय करने के लिए 11 जनवरी 2021 को देश के सभी मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक की. इस बैठक में केंद्रशासित प्रदेशों के मुख्यमंत्री भी शामिल हुए. बैठक में प्रधानमंत्री ने संबोधित करते हुए कहा कि वैक्सीन अभियान के लिए सभी राज्यों ने अच्छी तैयारी कर ली है और इस दौरान राज्यों से भी अच्छे सुझाव मिले हैं. 

Advertisements

साथ ही यह भी खुलासा हुआ है कि कोविशील्ड वैक्सीन के कीमत 200 रुपए होगी. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि केंद्र सरकार ही फिलहाल सभी वैक्सीन खरीदेगी. उन्होंने कहा कि फिलहाल दो वैक्सीन को मंजूरी दी जा चुकी है और चार वैक्सीन अभी पाइपलाइन में है. साथ ही प्रधानमंत्री कहा कि वैक्सीन को लेकर फैलाई जा रही अफवाह को लेकर भी लोगों को सतर्क करने की जरूरत है.

नौ राज्यों में बर्ड फ्लू की भी पुष्टि

प्रधानमंत्री ने कहा कि देश के नौ राज्यों में बर्ड फ्लू की भी पुष्टि हुई है. इससे निपटने के लिए केंद्र सरकार भी योजना तैयार कर रहा है. इसमें राज्य सरकारों के साथ निरंतर संपर्क साधा जा रहा है. गौरतलब है कि16 जनवरी से देश में टीकाकरण अभियान शुरू कर दिया जाएगा. देश में भारतीय दवा महानियंत्रक (डीजीसीए) ने फिलहाल सीरम इंस्टीट्यूट की कोविशील्ड और भारत बायोटेक की कोवैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल की अनुमति दी है.

वैक्सीन को लेकर भारत का बड़ा अनुभव 

प्रधानमंत्री ने कहा कि वैक्सीन को लेकर भारत का बड़ा अनुभव रहा है. हमें उसका भी लाभ उठाना होगा. यह भी सुनिश्चित करना होगा कि अन्य टीकों से जुड़े काम प्रभावित न हों. कोरोना वैक्सीन को लेकर जागरूकता बढ़ाने के लिए धार्मिक और सामाजिक संस्थाओं को भी जोड़ना होगा.

वैक्सीन को आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी 

हाल ही में केंद्र सरकार ने दो वैक्सीन को आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी दी थी. केंद्र सरकार ने 16 जनवरी से वैक्सीनेशन की मंजूरी भी दे दी है. औषधि नियामक द्वारा स्वदेश में विकसित टीके के देश में सीमित आपात इस्तेमाल को मंजूरी मिलने के बाद यह प्रधानमंत्री का सभी मुख्यमंत्रियों के साथ पहला संवाद होगा.

आठ बार सभी राज्यों के सीएम के साथ मीटिंग

कोविड संकट के दौरान पीएम मोदी अब तक आठ बार सभी राज्यों के सीएम के साथ मीटिंग कर चुके हैं. इस मीटिंग से ठीक पहले 10 जनवरी 2021 को ममता बनर्जी ने पश्चिम बंगाल में टीकाकरण को मुफ्त करने का घोषणा कर इस मसले को और उलझा दिया. अधिकतर राज्य सभी जनता का टीकाकरण मुफ्त चाहते हैं और इसके लिए केंद्र सरकार से खर्च उठाने को कह सकते हैं.

सबसे पहले किसे टीका दिया जाएगा

इस अभियान के तहत लगभग तीन करोड़ स्वास्थ्य कर्मियों एवं अग्रिम मोर्चे पर कार्यरत कर्मियों को पहले टीका दिया जाएगा. बयान में कहा गया कि इसके बाद 50 से अधिक उम्र के करीब 27 करोड़ व्यक्तियों और अन्य बीमारियों से ग्रसित 50 वर्ष से कम आयु के व्यक्तियों का टीकाकरण किया जाएगा.

source- jagranjosh.com