राजनांदगांव : कलेक्टर ने विकासखंड छुरिया में शासन की महत्वाकांक्षी योजनाओं की गतिविधियों का जमीनी स्तर पर किया निरीक्षण…

ग्राम भर्रीटोला, खोभा, सड़क चिरचारी एवं पेण्ड्रीडीह के गौठान, आंगनबाड़ी केन्द्र, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र, गिरदावरी, वृक्षारोपण स्थल का अवलोकन कर शासकीय योजनाओं के क्रियान्वयन की जानकारी ली

Advertisements

ग्राम भर्रीटोला में स्वास्थ्य जांच के लिए शिविर लगाने के दिए निर्देश

राजनादगाँव – कलेक्टर श्री तारन प्रकाश सिन्हा ने आज विकासखंड छुरिया में शिक्षा, स्वास्थ्य, पोषण, गिरदावरी और शासन की महत्वाकांक्षी योजनाओं की गतिविधियों का जमीनी स्तर पर निरीक्षण किया। उन्होंने ग्राम भर्रीटोला एवं पेण्ड्रीडीह के गौठान, आंगनबाड़ी केन्द्र, शासकीय प्राथमिक एवं पूर्व माध्यमिक शाला तथा प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र का अवलोकन कर शासकीय योजनाओं के क्रियान्वयन की जानकारी ली। इस दौरान कलेक्टर ने ग्राम भर्रीटोला और पेण्ड्रीडीह के आंगनबाड़ी केन्द्र का निरीक्षण किया। उन्होंने वहां बच्चों की उपस्थिति, शिक्षा अध्ययन और गांव में कुपोषित बच्चों की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि गंंभीर कुपोषित बच्चों पर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है। ऐसे बच्चों को सतत निगरानी में रखा जाए।

उन्होंने गांव में स्वास्थ्य शिविर लगाने के निर्देश अधिकारियों को दिए। जिसमें बच्चों के साथ माताओं की स्वास्थ्य जांच कराई जाएं। कुपोषित बच्चों एवं एनीमिक माताओं की पहचान कर सतत निगरानी रखते हुए स्वास्थ्य सुविधा एवं दवाई उपलब्ध कराई जाएं। उन्होंने आंगनबाड़ी कार्यकर्ता से अभिभावकों की बैठक लेकर उनकी काउंसिलिंग करने कहा। जिसमें कुपोषण के दौरान बच्चों को पौष्टिक आहार, स्वास्थ्य जांच एवं दवाईयों के बारे में जानकारी दी गई। कलेक्टर श्री सिन्हा ने कहा कि कुपोषण अभिशाप है। बच्चों को कुपोषण से दूर करना है। बच्चे स्वस्थ्य रहेंगे, तो उनका शारीरिक और मानसिक विकास अच्छे से होगा।

कलेक्टर ने किया ग्राम सड़क चिरचारी एवं खोभा में गिरदावरी कार्य का किया निरीक्षण- खेतों में पहुंचकर नक्शा से मिलान कर मौका मुआयना कियाकलेक्टर श्री सिन्हा ने ग्राम सड़क चिरचारी एवं खोभा में गिरदावरी कार्य का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने खेतों में पहुंचकर नक्शा से मिलान कर मौका मुआयना किया। उन्होंने किसान से धान की खेती के साथ अन्य फसल की जानकारी ली। किसान ने बताया कि वे खेत में धान के साथ सब्जी भी लगाया है। कलेक्टर ने धान के बदले अन्य फसल लगाने के लिए प्रोत्साहित किया। उन्होंने शासन की विभिन्न योजनाओं के बारे में जानकारी दी। जिससे किसानों को अधिक से अधिक लाभ मिल सके।कलेक्टर ने ग्राम भर्रीटोला एवं पेण्ड्रीडीह गौठान का किया अवलोकन- किसानों को वर्मी कम्पोस्ट क्रय के लिए प्रेरित करें : कलेक्टरकलेक्टर श्री सिन्हा ने ग्राम भर्रीटोला एवं पेण्ड्रीडीह गौठान का अवलोकन किया।

उन्होंने महिला स्वसहायता समूह द्वारा किए जा रहे कार्यों तथा गोबर खरीदी व विक्रय की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि वर्मी कम्पोस्ट निर्माण में तेजी लाए। अभी तक निर्माण किए गए वर्मी कम्पोस्ट का विक्रय सुनिनिश्चत करें। किसानों तथा ग्रामवासियों को वर्मी कम्पोस्ट क्रय के लिए प्रेरित करें। उन्होंने कहा कि वर्मी कम्पोस्ट रासायनिक खाद की अपेक्षा स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है। किसान खेतों में इसका उपयोग करें। उन्होंने गौठान के समीप तालाब में मछलीपालन करने कहा। स्वसहायता समूह की आय में वृद्धि के लिए गौठान में विभिन्न गतिविधियां संचालित करने के लिए कार्ययोजना तैयार करने अधिकारियों को निर्देश दिए।

कलेक्टर ने ग्राम खोभा के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में स्वास्थ्य सुविधाओं की ली जानकारीकलेक्टर श्री सिन्हा ने ग्राम खोभा के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पहुंचकर स्वास्थ्य सुविधाओं की जानकारी ली। उन्होंने स्वास्थ्य केन्द्र में डॉक्टर एवं मेडिकल स्टॉफ की जानकारी ली। इस दौरान केन्द्र में वैक्सीनेशन का कार्य किया जा रहा था। उन्होंने वैक्सीनेशन की जानकारी लेते हुए कहा कि शत-प्रतिशत टीकाकरण कराएं। उन्होंने लैब, पुरूष भर्ती वार्ड, वैक्सीनेशन प्रतीक्षा कक्ष का निरीक्षण किया। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य केन्द्र में उपलब्ध दवाईयों का वितरण करें। नागरिकों को सरलता से स्वास्थ्य सुविधाएं मिलनी चाहिए।

कलेक्टर ने किया ग्राम भर्रीटोला में वृहद वृक्षारोपण स्थल का निरीक्षण- पौधरोपण के साथ देखरेख तथा संरक्षण भी जरूरी : कलेक्टरकलेक्टर श्री सिन्हा ने ग्राम भर्रीटोला में लगभग 5 एकड़ क्षेत्र में वृहद वृक्षारोपण स्थल का निरीक्षण किया। इस क्षेत्र में लगभग 555 पौधे रोपे गए हैं। जिसमें आम, अमरूद, आंवला, नीबू, कटहल, काजू, जामुन, जिमीकंद के पौधे लगाए गए हैं। कलेक्टर ने कहा कि पौधरोपण के साथ देखरेख तथा संरक्षण भी जरूरी है। पौधे की सुरक्षा के लिए उन्होंने गेट लगाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इसके रखरखाव के लिए किसी व्यक्ति की नियुक्ति करें। इस अवसर पर जिला पंचायत सीईओ श्री लोकेश चंद्राकर, एसडीएम डोंगरगांव श्री हितेश पिस्दा, जनपद सीईओ श्री प्रतीक प्रधान, तहसीलदार श्री भरतलाल ब्राम्हे सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।