राजनांदगांव : खैरागढ़ उपजेल में कोरोना संक्रमित एक कैदी की मौत….

0
130

राजनांदगांव खैरागढ़ ब्लॉक मुख्यालय से 12 किलोमीटर दूर और व्यावहारिक रूप से बनाए गए सलोनी उपजेल में अब दुबले को दो असाड वाली बात चरितार्थ हो रही है। पहले से ही संसाधनों की कमी से जूझ रहे उपजेल में कोरोना विस्फोट के बाद अब स्थितियां जानलेवा बन पड़ी है । और इन स्थितियों के बीच जेल में बंदी एक विचाराधीन कैदी के बीती रात मौत हो गई है ।

Advertisements

जानकारी अनुसार सलोनी उप जेल में कैद विचाराधीन बंदी नकुल निषाद 48 वर्ष निवासी ग्राम मुड़पार बीते 22 अप्रैल को जांच के बाद कोरोना पॉजिटिव पाया गया था और इस बीच जेल में और भी विचाराधीन कैदी तथा सजाया मुजरिम भी कोरोना संक्रमित हैं। वर्तमान में सलोनी उप जेल में कुल 75 कैदी संक्रमित थे और शनिवार व रविवार की दरमियानी रात तकरीबन 1:25 बजे नकुल निषाद की तबीयत बहुत अधिक खराब हो जाने की वजह से उसे खैरागढ़ सिविल अस्पताल लाया गया । जहां तकरीबन 2:00 बजे उसे मृत घोषित किया गया ।

तकरीबन 4 वर्ष पहले खैरागढ़ जेल की व्यवस्था बनाने सलोनी में उप जेल की स्थापना की गई थी । लेकिन ग्राम सलोनी के चांदामारे इलाके में उप जेल निर्माण के साथ ही लगने लगा की यहां जेल बनाने का निर्णय समस्याओं को बढ़ाने वाला हो सकता है ,ज्ञात हो कि जिस जगह पर उप जेल की स्थापना की गई है वहां आज भी पानी की समस्या निरंतर बनी हुई है

तकरीबन 10 बोर खनन के बाद भी यहां पेय जल व निस्तारी जल का संकट समाप्त नहीं हो पाया है वहीं शहर से 12 किलोमीटर की दूरी पर बनाए गए उप जेल को तत्काल सुविधा व संसाधनों के लिए भटकना पड़ता है । यहां पर स्वीकृत होने के बाद भी अब तक कोई चिकित्सक नहीं मिल पाया है और स्वास्थ्य संबंधित सुविधाएं केवल एक फॉर्मेलिटी के भरोसे चल रही है । जेल प्रशासन को आपात स्थिति में लंबी दूरी तय करनी पड़ रही है और अब वैश्विक महामारी कोरोना जेल में भी मौत के आंकड़े को बढ़ाने का काम कर रही है।