राजनांदगांव: गलत मोबाईल नंबर देने वालों पर होगी एफआईआर- डॉ. मिथलेश चौधरी….

0
49

राजनांदगांव 05 अप्रैल 2021। कलेक्टर टोपेश्वर वर्मा के मार्गदर्शन में संक्रमण के प्रसार को दृष्टिगत रखते हुए आवश्यक कार्य किए जा रहे हैं। कोरोना वायरस के संक्रमण के नियंत्रण व बचाव के लिए जिले में वृहद रूप से सैम्पलिंग का कार्य किया जा रहा है। जिसमें धनात्मक मरीजों की त्वरित पहचान कर आवश्यकतानुसार होम-आइसोलेशन, कोविड केयर सेंटर, कोविड हॉस्पिटल में उपचार की सुविधा उपलब्ध करायी जा रही है। वर्तमान में जिले में कोरोना धनात्मक मरीजों की संख्या में वृद्धि हो रही है।

Advertisements


मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मिथलेश चौधरी ने कोरोना सेम्पल देने वाले समस्त नागरिकों को सैम्पल के समय अपना नाम, मोबाईल नंबर एवं वर्तमान पता सही दर्ज कराने की अपील की है। जिससे रिपोर्ट प्रदाय करने में सरलता तथा कांटेक्ट ट्रेसिंग दवाई वितरण होम आइसोलेशन में गंभीर स्थिति में रिफरल ट्रांसपोर्ट के पहुंचने में आसानी होगी। कुछ लोगों द्वारा धनात्मक परिणाम प्राप्त होने के बाद भी बार-बार सैंपल दिया जा रहा है और लगातार बाहर निकल रहे हैं।

इसकी जानकारी होने पर भी कड़ी कार्रवाई की जायेगी। गलत मोबाईल नंबर दर्ज कराने पर महामारी एक्ट का उल्लंघन करने पर एफआईआर कराया जायेगा। यदि परिवार के सदस्यों के पास अलग मोबाईल नंबर हो तो वे सभी स्वयं का मोबाईल नंबर दर्ज कराए। जिससे कांटेक्ट ट्रेसिंग में सही जानकारी प्राप्त कर धनात्मक मरीजों के संपर्क में आये लोगों के सैम्पल लेकर कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ा जा सके। प्राय: देखा गया है कि परिवार के सभी सदस्य एक ही मोबाईल नंबर दर्ज कराते हैं। जिससे रिपोर्ट प्राप्त करने में कठिनाई होती है।