राजनांदगांव: ग्रामीण विकास का हर कार्य पारदर्शिता तथा गुणवत्तापूर्ण होगा- जिला पंचायत सीईओ अजीत वसंत…

0
16

राजनांदगांव- 08 जनवरी 2021। जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री अजीत वसंत ने आज जिला पंचायत के सभाकक्ष में आयोजित प्रथम बैठक में शासन की महत्वाकांक्षी योजनाओं एवं जिला पंचायत अन्तर्गत चल रहे कार्यों की गहन समीक्षा की। बैठक में उन्होंने सभी जनपद पंचायत अधिकारियों एवं मैदानी अमला की उपस्थिति में मनरेगा, स्वच्छ भारत मिशन, गोधन न्याय योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण, राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन, ग्रामीण यांत्रिकी सेवा एवं जिला पंचायत के सभी अधिकारियों से प्रथम परिचय के साथ विभिन्न योजनाओं की समीक्षा की। जिसमें सर्वप्रथम महात्मा गांधी नरेगा योजना अन्तर्गत मनरेगा में पंजीकृत परिवारों को 100 दिवस रोजगार उपलब्ध कराना, प्रत्येक ग्राम पंचायत में रोजगार की उपलब्धता समयबद्ध मजदूरी भुगतान, पूर्व के अपूर्ण कार्यों को आगामी 15 से 20 दिवस में पूर्ण किए जाने एवं नरवा विकास के कार्यो में विशेष रूचि लेते हुए नरवा के जीर्णोद्धार के कार्यो को जल्द से जल्द पूर्ण करने के निर्देश दिए।

Advertisements

गोधन न्याय योजना अन्तर्गत हितग्राहियों को समय पर गोबर विक्रय का भुगतान, असफल रहे भुगतानों हेतु पुन: प्रयास किये जाने एवं निरंतर निर्मित हो रही खाद के पूर्ण विक्रय पर चर्चा करते हुये कार्यो को समय-सीमा के अन्तर्गत पूर्ण करने के लिये कड़ाई से निर्देशित किया गया। मिशन अन्त्योदय ईओएल और व्हीपीआरपी सर्वे पूर्ण करने के निर्देश दिए गए। साथ ही वित्तीय समावेशन अन्तर्गत एसएसजी बैंक लिंकेज एवं दोहरा प्रणाली के निर्धारित लक्ष्यों की पूर्ति माह फरवरी 2021 के पूर्व सुनिश्चित किए जाने हेतु सभी विकासखण्डों को निर्देशित किया गया। वन-धन परियोजना में आरईएस को भवन पूर्ण करने के निर्देश दिए गए।

जिला पंचायत सीईओ श्री अजीत वसंत ने प्रधानमंत्री आवास योजना की चर्चा पर विकासखंड स्तर पर पदस्थ कॉर्डिनेटर से कार्यो में हो रही विलंब और समस्याओं की जानकारी लेते हुए तत्काल जिला स्तर के अधिकारियों को निराकरण करने निर्देशित किया। उन्होंने हितग्राहियों की लंबित तृतीय किश्त को जल्द से जल्द जारी कर निर्माण कार्यो को 90 दिवस में अनिवार्यत: पूर्ण कराये जाने हेतु निर्देशित किया। स्वच्छ भारत मिशन के अन्तर्गत वर्ष 2020-21 में स्वीकृत शौचालयों की प्रगति, ठोस एवं तरल अपशिष्ट प्रबंधन के कार्यो की समीक्षा, लक्ष्य के विरूद्ध पूर्णता के प्रतिशत की समीक्षा की। जिसमें कार्यो की गुणवत्ता के साथ समय-सीमा में पूर्ण कराये जाने के लिए निर्देशित किया। गौठान में शौचालय निर्माण, बायोगैस संयत्र स्थापित करना, स्वच्छता ग्राही समूह के कार्यो एवं प्रतिमाह मानदेय, व्यक्तिगत शौचालय के पात्र हितग्राही की सूची की समीक्षा की गयी। जिसमें विकासखंड स्तर के अधिकारियों से जानकारी प्राप्त करते हुए कार्यो में आ रही समस्याओं को त्वरित निराकरण करने कहा गया।

जिला पंचायत सीईओ श्री अजीत वसंत ने पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के विकास कार्यो की समीक्षा में पंचायतों में चल रही मुख्यमंत्री समग्र योजना, मूलभूत योजना, लोक शिक्षण मद, पर्यावरण अधोसंरचना मद, जिला पंचायत विकास निधि के साथ-साथ ग्रामीण यांत्रिकी सेवा के वर्ष 2018-19 से 2020-21 तक स्वीकृत, अपूर्ण एवं प्रगतिरत कार्यो की समीक्षा करते हुये कार्यो की गुणवत्ता के साथ लगातार मैदानी स्तर पर निरीक्षण करते हुये कार्यो को समय-सीमा अन्तर्गत पूर्ण करने हेतु कड़ाई से निर्देशित किया। बैठक में लोक शिक्षण मद अन्तर्गत लंबित प्रांक्कलन तथा गौण खनिज मद से जनपद एवं ग्राम पंचायतों को प्राप्त होने वाली राशि से लिए जाने वाले कार्यो का परीक्षण कर विधिवत प्रस्ताव यथाशीघ्र जिला पंचायत को भेजने जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को निर्देशित किया।

उन्होंने कहा कि शासन की प्राथमिकता के कार्य ही हमारे लक्ष्य होंगे। सप्ताह में एक दिन अवश्य अपने अधीनस्थ अधिकारियों एवं कर्मचारियों की समीक्षा बैठक ली जाए। जनशिकायतों को सुने-समझे एवं त्वरित निराकृत करें। सभी अधिकारी कार्यालय में अपनी उपस्थिति अनिवार्यत:  सुनिश्चित करें। मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री वसंत ने जिला पंचायत की प्रथम परिचय सह समीक्षा बैठक का आयोजन कर भविष्य की कार्ययोजनाओं को निर्धारित किया। बैठक में मुख्य रूप से अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी, उप संचालक पंचायत, कार्यपालन अभियंता ग्रामीण यांत्रिकी सेवा, जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी, कार्यक्रम अधिकारी मनरेगा, जिला एवं जनपद समन्वयक, विकासखण्ड परियोजना प्रबंधक एवं अन्य अधिकारी कर्मचारी उपस्थित थे।