राजनांदगांव : जिले के 4 लाख घरों में शान से लहराएगा तिरंगा, कलेक्टर ने हर घर तिरंगा फहराने की तैयारी की समीक्षा…

– हर घर में तिरंगा फहराए जाने के लिए व्यवस्था सर्वाेच्च प्राथमिकता से करें – कलेक्टर
राजनांदगांव 02 अगस्त 2022। कलेक्टर डोमन सिंह ने आज जिला अधिकारियों की बैठक लेकर आजादी की अमृत महोत्सव के अंतर्गत हर घर तिरंगा फहराए जाने की समीक्षा की। कलेक्टर ने बताया कि जिले के 4 लाख घरों में तिरंगा फहराए जाने की तैयारी जिला प्रशासन द्वारा आरंभ कर दी गई है। कलेक्टर ने अधिकारियों को जिम्मेदारी देते हुए कहा कि हर घर में तिरंगा फहराए जाने के लिए पुख्ता इंतजाम और व्यवस्था सर्वाेच्च प्राथमिकता से करें।

Advertisements

उन्होंने जिले की स्वसहायता समूह की महिलाओं द्वारा बनाए जा रहे तिरंगा की जानकारी ली। कलेक्टर ने कहा कि हर घर तिरंगा फहराए जाने के महŸावपूर्ण कार्य में स्वसहायता समूह, स्वयंसेवी संस्थाओं, व्यापारिक संगठनों, सामाजिक संस्थाओं और इस महत्वपूर्ण कार्य में भागीदार बनने के लिए उत्सुक लोगों का सहयोग लेकर हर घर में तिरंगा वितरण के लिए विशेष कार्य योजना बनाये। कलेक्टर ने बैठक में जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों से ग्राम पंचायतों की संख्या और कुल घरों की संख्या के अनुपात में आवश्यक मात्रा में तिरंगे की व्यवस्था कर लेने कहा है। उन्होंने कहा कि जनसहभागिता और लोगों की सहमति से हर घर में तिरंगा फहराए जाने की व्यवस्था प्राथमिकता से समय पर करें।

कोरोना टीकाकरण की समीक्षा –
कलेक्टर डोमन सिंह ने जिलाधिकारियों की बैठक में कोरोना टीकाकरण की समीक्षा की। कलेक्टर ने सभी विभाग प्रमुख अधिकारियों से कहा कि वह अपने अधीनस्थ समस्त अधिकारी-कर्मचारियों का शत प्रतिशत टीकाकरण का कार्य अविलंब पूर्ण करा लें। उन्होंने कहा कि कोरोना से बचाव के लिए कारगर उपाय है। उन्होंने कहा कि किसी भी दशा में कोई भी अधीनस्थ कर्मचारी टीकाकरण से वंचित ना हो इस पर विशेष ध्यान रखा जाए।

निर्माण स्थलों पर रखा जाएगा धन्वंतरी मेडिकल किट –
बैठक में कलेक्टर ने जिलाधिकारियों को जिम्मेदारी देते हुए कहा कि सभी निर्माण एजेंसी यह सुनिश्चित करें कि सभी निर्माण स्थलों पर धन्वंतरी मेडिकल किट अनिवार्य रूप से रखें। इसके लिए उन्होंने निर्माण एजेंसियों के साथ ही जिलाधिकारियों को अपने कार्यालय की आवश्यकता के अनुसार प्राथमिक उपचार के लिए बनाए गए धन्वंतरी मेडिकल किट का क्रय करने के निर्देश दिए हैं। कलेक्टर ने कहा कि धन्वंतरी मेडिकल किट में प्रारंभिक तौर पर उपचार में लगने वाले सभी तरह के दवाई का संग्रहण किया गया है। उन्होंने कहा कि यह निर्माण में लगे मजदूरों के लिए काफी फायदेमंद होगा। इसी तरह से मनरेगा के अंतर्गत कार्य करने वाले मजदूरों के लिए निर्माण स्थल पर धन्वंतरी मेडिकल किट रखे जाने का निर्णय लिया गया है। इसके लिए कलेक्टर ने सभी जिलाधिकारियों को आवश्यक मात्रा में किट का क्रय करने कहा है।

मुख्यमंत्री की घोषणा पर अविलंब कार्यवाही करें-
कलेक्टर ने मुख्यमंत्री की जिले में की गई घोषणा की समीक्षा करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा की गई घोषणा पर तत्काल कार्यवाही करें। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री की घोषणा विकास के साथ ही संबंधित क्षेत्र की आवश्यकता और अधोसंरचना को ध्यान में रखते हुए किया गया है। घोषणा पर अमल होने और निर्माण कार्य समय पर होने से संबंधित क्षेत्र के लोगों को इसका लाभ मिलेगा। कलेक्टर ने जिले में मुख्यमंत्री द्वारा की गई घोषणा की अद्यतन स्थिति की जानकारी लेकर सभी कार्यों को अविलंब प्रारंभ कर पूर्ण करने के निर्देश दिए हैं।

महत्वाकांक्षी योजनाओं की समीक्षा –
कलेक्टर ने विभिन्न महत्वकांक्षी योजनाओं की समीक्षा की। कलेक्टर ने जिले में छूटे हुए ग्राम पंचायतों में गौठान निर्माण के लिए अति शीघ्र जमीन का सीमांकन करने कहा है। जमीन का चिन्हांकन हो जाने पर यहां गौठान निर्माण कर बहु क्रियाकलाप संचालित किया जाएगा। महिला समूह को अवसर मुहैया कराकर आय का स्रोत अर्जित करने के लिए रोजगारोन्मुखी योजनाओं से जोड़ा जाएगा। कलेक्टर ने कहा कि गौठान योजना महिला समूह को आत्मनिर्भर बनाने के लिए महत्वकांक्षी योजना है। जिसका लाभ महिला समूह को मिल रहा है। बैठक में कलेक्टर ने कृष्णाकुंज की समीक्षा करते हुए कहा कि प्रत्येक विकासखंड में कृष्णाकुंज अनिवार्य रूप से पूर्ण हो जाए।

इसी प्रकार उन्होंने मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान की समीक्षा करते हुए कहा कि प्रत्येक आंगनबाड़ी केन्द्रों में कुपोषित बच्चों का चिन्हांकन कर सुपोषण आहार उपलब्ध कराकर उन्हें सुपोषित किया जाए। कलेक्टर ने बैठक में मुख्यमंत्री वृक्षारोपण प्रोत्साहन योजना, स्वामी आत्मानंद हिंदी मीडियम स्कूल के संचालन, आजादी से अंत्योदय तक योजना, विकेंद्रीकृत जन चौपाल योजना, जल शक्ति अभियान की भी व्यापक समीक्षा की। इस अवसर पर जिला पंचायत सीईओ गजेन्द्र सिंह ठाकुर, अपर कलेक्टर सीएल मारकण्डेय, नगर निगम आयुक्त आशुतोष चतुर्वेदी, संयुक्त कलेक्टर श्रीमती इंदिरा देवहारी, श्रीमती निष्ठा पाण्डेय, खेमलाल वर्मा, एसडीएम अरूण वर्मा सहित अन्य जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे। विडियो कान्फ्रेसिंग के जरिए सभी एसडीएम, जनपद सीईओ एवं अन्य अधिकारी जुड़े रहे।