राजनांदगांव : पार्षद ने निभाया एक बेटे का धर्म गगन आइच ने पेश की इंसानियत की मिसाल…

0
59

राजनांदगांव – कहते हैं- ‘इंसानियत का कोई रूप नहीं होता, इंसान यदि चाहे तो इसका उदाहरण कहीं भी पेश कर सकता है’, आज इसी बात का प्रमाण पार्षद गगन आईच ने पेश किया l

Advertisements

आज से लगभग 15 दिन पूर्व स्थानीय बजरंगपुर नवागांव निवासी मनोज बंसोड़ का कोरोना रिपोर्ट पॉसिटिव आया। सामान्य परिवार के होने की वजह से मददगार की तलाश में भटकने लगा कि कोई भी उनका ईलाज करा दें।

इसी दौरान एक सज्जन ने रामकृष्ण वार्ड 45 के पार्षद गगन आईच से संपर्क की सलाह दि। गगन आईच ने बिना देर किये मनोज बंसोड़ को पेण्ड्री स्थित मेडिकल कॉलेज कोविड हॉस्पिटल में भर्ती करवाया तब से लेकर आज तक परिवार के किसी अपने सदस्य की तरह सेवा किया l मनोज बंसोड़ आरती ट्रेडर्स मोतीपुर में कार्यरत थे।

रविवार को अचानक तबीयत बिगड़ने की वजह से मनोज बंसोड़ (48) का निधन हो गया। मेडिकल कालेज प्रबंधन द्वारा तत्काल इसकी सूचना परिवार को दी गई। पूरा परिवार अस्वस्थ होने की वजह से उनके पुत्र शुभम बंसोड़ ने गगन आईच को फोन कर अपनी विवषता बताई कि परिवार का कोई भी सदस्य पिताजी के अंतिम संस्कार में नहीं जा पाएगा, उन्होंने एक पत्र लिखकर आग्रह किया कि कृपया आप ही अंतिम संस्कार कर दें l

पार्षद गगन आईच ने इंसानियत की मिसाल पेश किया और एक बेटे का धर्म निभाते हुए पीपीई किट पहनकर स्वयं शव को उठाकर शव वाहन में रखा और गोकुल नगर स्थित कोरोना मुक्तिधाम में जाकर कोरोना प्रोटोकॉल के तहत मुखाग्नि दी।