राजनांदगांव: महापौर ने की गोधन न्याय योजना के क्रियान्वयन की समीक्षा…

0
103

राजनांदगांव 29 जुलाई। शासन की गोधन न्याय योजना के क्रियान्वयन के संबंध में नगर निगम में आहुत समीक्षा बैठक में महापौर श्रीमती हेमा सुदेश देशमुख ने योजना के क्रियान्वयन के संबंध में जानकारी ली। उन्होंने कहा कि शासन द्वारा गौठानों के विस्तारण के तहत गोबर संग्रहण कर वर्मी कम्पोस्ट एवं अन्य उत्पाद तैयार कर भूमि की उर्वरक शक्ति में वृद्धि करने, पशुपालको को आय का जरिया उपलब्ध कराने तथा स्थानीय स्व सहायता समूहों को रोजगार दिलाने जैविक खाद के उपयोग को बढावा देने गोधन न्याय योजना की सुरूवात की गयी है।

Advertisements

साथ ही नगरीय निकाय में संचालित एस.एल.आर.एम. सेन्टर/ कम्पोस्टिंग शेड को गौठान सह गोधन न्याय योजना का खरीदी केन्द्र घोषित किया गया है। जहा पर इस योजना का सूचारू रूप से संचालन किया जाना है। योजना के लिये नगर निगम द्वारा की जा रही तैयारी संबंध में उनके द्वारा जानकारी ली गयी।


समीक्षा बैठक मे निगम आयुक्त श्री चंद्रकांत कौशिक ने बताया कि निगम सीमाक्षेत्र के 4 एस.एल.आर.एम. सेन्टरों बजरंगपुर नवागांव, रेवाडीह, लखोली एवं मोहारा के सेन्टरों को चयनित किया गया है एवं अन्य 13 एस.एल.आर.एम. सेन्टर को गोबर सह खरीदी केन्द्र घोषित किया गया है। उक्त सेन्टरों में उसके आस पास के वार्डो के पशुपालकों से 2 रूपये प्रति किलो की दर से गोबर खरीदी की जायेगी। पंजीयन किये हुये पशुपालकों से गोबर की खरीदी कर पैसे उनके खाते में सहकारी साख समिति के माध्यम से ट्रांसफर किया जायेगा।


बैठक में महापौर श्रीमती देशमुख ने कहा कि गोबर सह खरीदी केन्द्र मेें गोबर एकत्रित करने छोटे छोटे ड्रम रखा जाये, एकत्रित गोबर को उक्त क्षेत्र के लिये निर्धारित वर्मी कम्पोस्ट क्षेत्र एस.एल.आर.एम. सेन्टर में पहुचाया जाये।

उन्होंने पशुपालकों के सर्वे एवं पंजीयन के संबंध में जानकारी ली। इस संबंध में आयुक्त श्री कौशिक ने बताया कि आज दिनांक तक 736 पशुपालकोें का सर्वे किया जा चुका है, जिसमें 182 पशुपालकों द्वारा पंजीयन भी कराया जा चुका है और पंजीयन के लिये सफाई दरोगाओं की ड्यूटी भी लगायी गयी है। सफाई दरोगा अपने अपने प्रभारित वार्डो में पशुपालकों का सर्वे करेंगे।


महापौर श्रीमती देशमुख ने कहा कि गोधन न्याय योजना के क्रियान्वयन के लिये गंभीरता से कार्य किया जाये। ताकि मुख्यमंत्री माननीय भूपेश बघेल जी की मंशानुरूप पशुपालकों को लाभ मिल सके। उन्होंने पशुपालकों से अपील की है कि अपने अपने क्षेत्र के सफाई दरोगाओं से माध्यम से नगर पालिक निगम में गोबर विक्रय हेतु पंजीयन करवाकर योजना का लाभ ले। पंजीयन हेतु राशन कार्ड, बैंक पास बुक एवं आधार कार्ड की छायाप्रति फार्म के साथ जमा करना आवश्यक है। जिन पशुपालकों का सर्वे नहीं हो पाया है, वे भी आवेदन जमा कर योजना का लाभ ले सकते है। बैठक में महापौर परिषद के प्रभारी सदस्यगण सर्वश्री सतीश मसीह, संतोष पिल्ले व गणेश पवार, कार्यपालन अभियंता श्री दीपक जोशी, सहायक अभियंता श्री कामना सिंह यादव, प्र.स्वास्थ्य अधिकारी श्री अजय यादव सहित संबंधित का अमला उपस्थित था।