राजनांदगांव : रोपवे संचालन में लापरवाही, मंदिर समिति के अध्यक्ष,उपाध्यक्ष व मंत्री के खिलाफ केस दर्ज…

0
7

डोंगरगढ़। रोपवे हादसा के मामले में डोंगरगढ़ पुलिस ने मंदिर ट्रस्ट समिति के अध्यक्ष नारायण अग्रवाल, उपाध्यक्ष रघुवरदास अग्रवाल और मंत्री नवनीत तिवारी के खिलाफ लापरवाही व गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज किया है।

Advertisements

पुलिस ने बताया कि रोपवे के संचालन में मंदिर ट्रस्ट समिति के पदाधिकारियों ने लापरवाही की है। रोपवे संचालन के दौरान कोई भी प्रशिक्षित टेक्नीशियन नहीं था, फिर भी मनमानीपूर्वक रोपवे का संचालन कर रिस्क उठाया जा रहा था।

ट्रस्ट के पदाधिकारियों की इसी मनमानी के चलते बीते 18 फरवरी को मटेरियल ढुलाई के दौरान एक ट्राली टूटकर नीचे खाई में गिर गई, जिसमें रोपवे के ही एक कर्मचारी की मौत हो गई। इस घटना के बाद मामले की जांच में भी मंदिर ट्रस्ट समिति के पदाधिकारी अनदेखी कर रहे थे। पुलिस ने पूरे घटनाक्रम की जांच की। जांच में मंदिर ट्रस्ट समिति के पदाधिकारियों की मनमानी सामने आयी है, जिस पर उनके खिलाफ अपराध दर्ज किया गया है।

बीते 18 फरवरी को मंदिर परिसर स्थित नए रोपवे में मटेरियल ढुलाई के दौरान एक ट्राली टूटकर खाई में गिर गई थी। ट्राली ऊपर मंदिर से नीचे आ रही थी, जिसमें रोपवे में काम करने वाला हेल्पर हरणसिंघी निवासी गोपीचंद गोड़ सवार था।

ट्राली खाई में गिरने से उसकी मौत हो गई। हादसे के दौरान रोपवे में मालवाहक ट्राली लगी थी, जिसमें नीचे से ऊपर मंदिर में भवन निर्माण के लिए लोहे की राड भेजा जा रहा था, वहीं ऊपर से खाली ट्राली नीचे आ रही थी। उसी में हेल्पर गोपी बैठ गया था।

इस हादसे के बाद रोपवे के संचालन में मंदिर ट्रस्ट समिति के पदाधिकारियों पर ही उंगली उठी। हालांकि रोपवे संचालन के लिए कोलकाता की कंपनी सीआरएस से एक साल का एग्रीमेंट है, लेकिन नवंबर माह से ही रोपवे का संचालन मंदिर ट्रस्ट समिति के पदाधिकारी ही कर रहे थे।

SOURCE ; naidunia.com