राजनांदगांव: शहीद जवान श्री जगतराम कंवर को गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया, ग्राम आलीखुटा के ग्रामवासियों ने वीर सपूत को दी अंतिम विदाई….

0
37

राजनांदगांव 05 अप्रैल 2021। वन एवं प्रभारी मंत्री श्री मोहम्मद अकबर ने आज बीजापुर नक्सली हमले में राजनांदगांव जिले के ग्राम आलीखुटा के शहीद जवान श्री जगतराम कंवर को पुष्प चक्र अर्पित कर श्रद्धांजलि दी।

Advertisements

बीजापुर नक्सली हमले में शहीद वीर जवान श्री जगतराम कंवर को गार्ड ऑफ ऑनर  दिया गया। वन एवं प्रभारी मंत्री श्री अकबर ने कहा कि बीजापुर के नक्सली हमले में 22 जवान शहीद हुए हैं, उन्हें नमन। उन्होंने कहा कि शहीदों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाता। भारत शासन एवं राज्य शासन द्वारा नक्सलियों के खिलाफ लड़ाई लडऩे के लिए संयुक्त रणनीति बनाकर कार्य किया जाएगा। उम्मीद है कि इससे समाधान मिलेगा।

ग्राम आलीखुटा के शहीद जवान श्री जगतराम कंवर ने अदम्य साहस एवं वीरता से नक्सलियों से लड़ते हुए मातृभूमि के लिए अपने प्राणों का बलिदान दिया। शहीद जवान आरक्षक श्री जगतराम कंवर स्पेशल टास्क फोर्स में पदस्थ थे। उनके परिवार में उनकी माता श्रीमती सुराज बाई, पत्नी श्रीमती कुमारी बाई, पुत्र दुर्गेश कुमार कंवर एवं दो बेटियां है। तिरंगे में लिपटे हुए उनके पार्थिव शरीर को जब ग्राम लाया गया, तब ग्रामवासी बड़ी संख्या में वीर सपूत को अंतिम विदाई देने के लिए आए। भारत माता की जय और वंदे मातरम के जयकारे के साथ शहीद का पार्थिव शरीर लाया गया। उनके बेटे एवं बेटियों ने मिलकर उनकी अर्थी को कंधा दिया। बेटे दुर्गेश ने मुखाग्रि देकर वीर शहीद का अंतिम संस्कार किया।

वहां उपस्थित सांसद श्री संतोष पाण्डेय, संसदीय सचिव श्री इंद्रशाह मंडावी, अध्यक्ष अन्य पिछड़ा वर्ग विकास प्राधिकरण श्री दलेश्वर साहू, अध्यक्ष अनुसूचित जाति विकास प्राधिकरण श्री भुनेश्वर बघेल, विधायक श्रीमती छन्नी साहू, महापौर श्रीमती हेमा देशमुख, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती गीता साहू, छत्तीसगढ़ अल्पसंख्यक आयोग के सदस्य श्री हफीज खान, पूर्व सांसद श्री अभिषेक सिंह, पूर्व सांसद श्री मधुसूदन यादव, कलेक्टर श्री टोपेश्वर वर्मा, पुलिस अधीक्षक श्री डी श्रवण, सीईओ जिला पंचायत श्री अजीत वसंत, आईटीबीपी के द्वितीय कमान अधिकारी श्री जावेद अली, एसडीएम श्री हितेश पिस्दा सहित अन्य जनप्रतिनिधि, अधिकारी एवं ग्रामवासियों ने शहीद वीर जवान के पार्थिव शरीर पर पुष्प चक्र अर्पित कर श्रद्धांजलि दी।