रायपुर : कोरोना से बचाव के उपायों का संदेश जन-जन तक पहुंचायें: सचिव जनसम्पर्क

0
16

जनसम्पर्क सचिव श्री डी.डी. सिंह ने जनसम्पर्क अधिकारियों की वर्चुअल बैठक लेकर 
‘‘कोविड-19 उचित व्यवहार अभियान‘‘ के व्यापक प्रचार-प्रसार के निर्देश दिए

Advertisements

रायपुर, 06 अप्रैल 2021-कोरोना संक्रमण की रोकथाम और कोरोना वैक्सीनेशन को लेकर लोगों को प्रेरित-प्रोत्साहित करने एवं सकारात्मक वातावरण का निर्माण के लिए संचालित ‘‘कोविड-19 उचित व्यवहार अभियान‘‘ को और गति देने के संबंध में आज सचिव जनसम्पर्क श्री डी.डी. सिंह ने विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ सभी जिलों के जिला जनसम्पर्क अधिकारियों की वर्चुअल बैठक ली। उन्होंने जनसम्पर्क अधिकारियों को कोरोना से बचाव के उपायों का मीडिया, सोशल मीडिया एवं जनसंचार के समस्त माध्यमों के जरिए व्यापक प्रचार-प्रसार करने तथा जिलों में चल रहे कोरोना वैक्सीनेशन को लेकर भी पात्र लोगों को प्रेरित एवं जागरूक करने के निर्देश दिए। 


    सचिव श्री सिंह ने कहा कि ‘‘कोविड-19 उचित व्यवहार अभियान‘‘ के अंतर्गत  स्थानीय भाषा में प्रचार सामग्री, समाचार, सफलता की कहानी, आलेख बनाकर सभी प्रचार माध्यमों में प्रसारित और प्रचारित करें। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए लोगों को अनिवार्य रूप से मास्क पहनने, फिजिकल डिस्टेंसिंग, सेनेटाइजर का उपयोग और समय-समय पर साबुन से हाथ धोने जैसे उपायों के बारे में लगातार जानकारी दी जानी चाहिए। सतर्कता ही कोरोना से सुरक्षा का सबसे कारगर उपाय है। उन्होंने अधिकारियों को जिला प्रशासन से समन्वय कर जनजागरूकता के लिए सार्वजनिक स्थलों, हाट बाजारों एवं चौक-चौराहों में कोरोना से बचाव के उपाय की जानकारी देने वाले पोस्टर-बैनर भी प्रदर्शित किए जाने चाहिए।
    जनसम्पर्क सचिव श्री डी.डी. सिंह ने इस जनजागरूकता अभियान में स्थानीय स्तर पर स्वयंसेवी, समाजसेवी, व्यावसायिक, खेल एवं युवा संगठनों, धार्मिक एवं सांस्कृतिक संस्थाओं और महिला स्व-सहायता समूहों को जोड़ा जाना चाहिए। उन्होंने स्वयंसेवी संस्थाओं से प्रचार-प्रसार अभियान में यथासंभव सहयोग लेने के भी निर्देश दिए। सचिव श्री सिंह ने मेरा मास्क-मेरी सुरक्षा, मैंने टीका लगवा लिया है, जैसे स्लोगन के माध्यम से भी लोगों को जागरूक किए जाने की बात कही। उन्होंने कहा कि कोरोना टीका लगा चुके लोग यदि स्वस्फूर्त रूप सेे आई एम वैक्सीनेटेड का बैज लगाए तो इससे समाज में बेहतर संदेश जाएगा और अन्य लोग प्रेरित होंगे। 


    सचिव श्री सिंह ने कहा कि कोविड-19 से बचाव और उचित व्यवहार के संबंध में स्थानीय स्तर पर जिला प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों, स्वास्थ्य विशेषज्ञों, चिकित्सकों, मुख्य चिकित्सा अधिकारी आदि के वक्तव्य, टीवी बाईट्स आदि बनवाकर समाचार पत्रों, स्थानीय न्यूज चैनलों, केबल टीवी और सोशल मीडिया में प्रचारित एवं प्रसारित करें। व्यवसायिक संस्थाओं, चेम्बर ऑफ कॉमर्स, पेट्रोल पंप एसोसिएशन, मॉल, शॉपिंग काम्पलेक्स आदि के सहयोग से कोविङ-19 से बचाव और उचित व्यवहार हेतु बैनर, पोस्टर लगवाए जा सकते हैं। जिला प्रशासन के सहयोग से संयुक्त जिला कार्यालय सहित सभी जिला कार्यालयों, जनपद एवं तहसील स्तरीय कार्यालयों, स्वास्थ्य केन्द्रों एवं उचित मूल्य की दुकानों, ग्राम पंचायतों एवं अन्य कार्यालयों में भी कोविड-19 से बचाव और उचित व्यवहार के संबंध में जानकारी वाले  पोस्टर-बैनर लगाए जाने चाहिए। स्थानीय प्रसिद्ध व्यक्तियों, खेल एवं फिल्म से जुड़े हस्तियों, धार्मिक एवं सामाजिक संगठनों के प्रमुखों से कोविड-19 से बचाव और उचित व्यवहार तथा कोरोना टीकाकरण के बारे में जागरूकता वक्तव्य टीवी बाईट्स जारी करें।
टीकाकरण अभियान का प्रचार-प्रसार


    उन्होंने कहा कि कोरोना वैक्सीनेशन के अधिकतम प्रचार-प्रसार के लिए अपने-अपने जिले के जनप्रतिनिधिगण जो टीका लगवा रहे हैं, उसका प्रचार, उनकी फोटो, एक छोटी सी बाईट जिले के सोशल मीडिया में वायरल करें। वैक्सीनेशन संबंधी वीडियो छत्तीसगढ़ी के अलावा स्थानीय बोलियों जैसे हल्बी, गोंडी, सरगुजिहा वोली, जशपुर की स्थानीय बोली में बनाकर प्रचारित एवं प्रसारित करें। सचिव श्री सिंह ने अधिकारियों को मीडिया के माध्यम से इस बात का व्यापक प्रचार-प्रसार करने के निर्देश दिए कि टीका लगाने से काफी हद तक कोरोना संक्रमण से बचा जा सकता है, लेकिन इसके लिए भी बचाव के उपायों का कड़ाई से पालन आगे भी जरूरी है।

टीका की पहली या दूसरी या दोनों डोज लगवाने के बाद भी मास्क लगाना, दूसरों से 2 गज की दूरी रखना और समय-समय पर हाथों की साबुन पानी से सफाई अनिवार्य है। बैठक में प्रभारी संचालक श्री जे.एल. दरियो, संयुक्त सचिव श्री उमेश मिश्रा, अपर संचालक श्री उमेश कुमार मिश्रा, संयुक्त संचालक द्वय श्री आलोक देव, श्री संजीव तिवारी एवं अवर सचिव श्री विभोर अग्रवाल उपस्थित थे।