रायपुर : स्वास्थ्य मंत्री टी. एस. सिंहदेव ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री के सामने रखी यह बातें…

0
121

रायपुर – प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव में कहा कि छत्तीसगढ़ में वर्तमान स्थिति चिंताजनक है, जिसमें यदि 16 अप्रैल को राज्य की औसत पॉजिटिविटी दर देखें तो लगभग 30 फीसद है। राज्य के 28 में से 13 जिलों में 20 फीसद से कम है, 20 से 40 फीसद पॉजिटिविटी दर सात जिलों में है, और 40 फीसद से ऊपर आठ जिलों में है। छीसगढ़ में वर्तमान में एटिव केस 1,24,000 हो चुके हैं, अभी छीसगढ़ में 1,30,000 का अनुमान बताया गया है। यह दो लाख के आसपास या 1.5 लाख तो पार करने के आसार दिखाई दे रहे हैं।

Advertisements

इसके साथ ही उन्होंने बताया कि केंद्रीय आंकड़ों के अनुसार छीसगढ़ में 90 फीसद के आस-पास होम आइसोलेशन है, हम 80 फीसद का टारगेट लेकर चल रहे हैं, कि 80 फीसद होम आइसोलेशन होगा, तो 20 फीसद आबादी के लिए प्रबंधन करना होगा, अर्थात दो लाख की स्थिति आती है तो 40,000 कुल बिस्तर, जिसमें ऑसीजन बेड भी होंगे। इसके साथ ही आईसीयू बिस्तरों की स्थिति चिंताजनक है, छपीसगढ़ लगभग 100 फीसद ऑयुपेंसी की स्थिति में है। स्वास्थ्य मंत्री टी. एस. सिंहदेव ने आगे बताया कि वैसीनेशन में अभी तक तुलनात्मक बड़े राज्यों में खीसगढ़ का परफॉर्मेस ठीक रहा है, कल ही हिमांचल ने हमें ओवरटेक किया तो 14.6 के आसपास खीसगढ़ की आबादी की वैसीनेशन प्रतिशतता है।

20 फीसद टारगेटेड आबादी को वैसीनेट करने का लक्ष्य राज्य ने रखा है। इसके साथ ही उन्होंने सुझाव देते हुए कहा कि जिन राज्यों का वैसीनेशन प्रतिशत आबादी का 16-17 फीसद से ऊपर पहुंच जा रहा है, उसमें 45 साल से नीचे का भी रिलैसेशन का प्रावधान देना चाहिए | उन्होंने मौजूदा उपलध वैसीन का उल्लेख करते हुए बताया कि कोविशिल्ड की चार लाख कल वैसीन आई और दो लाख कोवै सीन की भी आई हैं। इनका उपयोग हम लोग समुचित कर लेंगे, लेकिन जमा आबादी प्रतिशतता को जो राज्य अर्जित कर रहे हैं उन्हें अगली कड़ी के आबादी की वैसीनेशन के तरफ बढ़ाने की अनुमति प्रदान करनी चाहिए। योंकि दबाव बहुत ज्यादा है।

राज्य की ओर से आवश्यकताओं का उल्लेख करते हुए स्वास्थ मंत्री टीएस सिंहदेव ने कहा कि हम आभारी हैं कि आपने हमारे ऑसीजन जंबो सिलेंडर और छोटे सिलेंडर को संज्ञान में लेकर उपलध कराने का निर्णय ले लिया है। आईसीयू बिस्तरों की कमी का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि 200 प्री-फैबरीकेटेड यूनिट से 1000 प्री-फैबरीकेटेड यूनिट केंद्र सरकार उपलध करवाने पर विचार करें, जिससे कम से कम समय में आईसीयू के बिस्तरों का हम निर्माण कर सकें। इसके साथ ही जीएसटी के रिलै सेशन की बात पर टीएस सिंहदेव जी ने कहा कि हो सकता है यह जीएसटी काउंसिल का मुद्दा हो लेकिन इसमें भी पहल करने का आवश्यकता है।